प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रचा अनोखा इतिहास, रामभक्तों को तोहफे में दिया भगवान श्रीराम का मंदिर- भाटिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रचा अनोखा इतिहास, रामभक्तों को तोहफे में दिया भगवान श्रीराम का मंदिर- भाटिया

सर्वप्रिय भारत/फरीदाबाद।

अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर का भव्य निर्माण करना दुनिया में भारत देश के नाम एक इतिहास रचना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने स्वर्णिम काल में अनोखा इतिहास रचा है और देश के करोड़ों लोगों को भगवान श्रीराम मंदिर के रूप में तोहफा दिया है।

यह विचार हरियाणा प्रदेश भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जगदीश भाटिया ने व्यक्त किए । उन्होंने कहा कि 22 जनवरी को अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य प्राण प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन होने जा रहा है। इस अवसर पर देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर में राम भक्त दीवाली का त्यौहार मनाएंगे। हर घर में घी के दीए जलेंगे और हर घर में राम भजन सुनाई देंगे।

भाजपा नेता श्री भाटिया ने कहा कि मंदिर निर्माण में उनके पिता विधायक स्वर्गीय कुंदनलाल भाटिया का विशेष योगदान रहा है। वर्ष 1990 में जब अयोध्या में राम भक्तों द्वारा शोभा यात्रा निकाली गई थी और भगवा लहराया गया ,तब उनके पिता भी वहां मौजूद थे और भगवा लहराने में उनका योगदान रहा है। यही नहीं बल्कि जब राम भक्तों पर लाठी चार्ज हुआ तो उनके पिता भी इसमें घायल हुए थे.

श्री भाटिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार ने वर्षों से रूके हुए श्रीराम मंदिर का निर्माण करवाकर देश और दुनिया के करोड़ों रामभक्तों की धार्मिक भावनाओं का सम्मान किया है और सभी राम भक्तों का सपना साकार किया है। श्री भाटिया ने कहा कि आज उन रामभक्तों की आत्मा को भी शांति मिली होगी, जिन्होंने राममंदिर निर्माण के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है।

श्री भाटिया ने कहा कि वर्ष 1990 में जब अयोध्या में राम भक्तों द्वारा शोभा यात्रा निकाली गई थी और भगवा लहराया गया था, तब की उत्तर प्रदेश सरकार ने रामभक्तों पर लाठी चार्ज और अधाधुंध गोलियां चलवाई थी, जिसमें कई लोगों का बलिदान हुआ, मगर मोदी सरकार ने उनके बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने दिया और आज भव्य रामंदिर को उनके प्रति समर्पित कर उनकी आत्मा को शांति पहुंचाने का काम किया है। श्री भाटिया ने कहा कि 22 जनवरी को अयोध्या में देश और दुनिया से हजारों लोग इस भव्य प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होकर भगवान श्रीराम का आर्शीवाद ग्रहण करेंगे। इस अवसर पर देश भर में जगह जगह इस समारोह का लाईव प्रदर्शन भी होगा और लोग भगवान श्रीराम के दर्शन करेंगे।

इस अवसर पर शहर भर में भव्य श्रीराम यात्रा का आयोजन भी शोभा यात्रा के रूप में किया जा रहा है। श्री भाटिया ने हरियाणा की मनोहर लाल सरकार की भी जमकर प्रशंसा की और कहा कि 22 जनवरी को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ही सबसे पहले अपने प्रदेश में अवकाश की घोषणा की है। इसके लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रशंसा के पात्र  हैं, जिन्होंने रामभक्तों की भावनाओं को समझते हुए इस धार्मिक आयोजन के लिए अवकाश की घोषणा की है।
श्री भाटिया ने कहा कि मोदी सरकार ने अयोध्या के भव्य आयोजन से देश-विदेश के राम भक्तों की धार्मिक भावनाओं को जो मान सम्मान दिया है, वह आज इतिहास बन गया है।

श्री भाटिया ने बताया कि इस भव्य आयोजन के उपलक्ष्य में महारानी वैष्णोदेवी मंदिर में भी 22 जनवरी की सुबह हवन यज्ञ, पूजा पाठ और राज सहगल एंड पार्टी फूलों वाली द्वारा भजन संध्या का आयोजन किया जा रहा है। इसके बाद दोपहर 12 बजे मंदिर में रामभक्तों के लिए विशेष तौर पर भंडारे का आयोजन भी रखा गया है। श्री भाटिया ने सभी रामभक्तों से अपील की है कि श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा के उपलक्ष्य में आयोजित इस धार्मिक आयोजन में बढ़ चढक़र शामिल हों और भगवान श्रीराम का आर्शीवाद ग्रहण करें।